Insurance Kya Hota Hai Hindi Me-

Insuranse Ki Jankari: बीमा क्या होता हैं ( Insuranse Kya Hota Hai Hindi Me ) 
अगर आप नहीं जानते की बीमा यानी की Insurance क्या होता हैं तो आप ये पोस्ट पूरा पढ़िए।  इसमें मैंने कुछ खाश टॉपिक को कवर किया हैं जैसे की-


अगर आप इन सभी बातों से अनजान हैं तो आप इस पोस्ट को पूरा जरूर पढ़ें और अगर आपको ये पोस्ट यूजफुल और अच्छी लगे तो आप इसे अपने दोस्तों और फैमिली के पास जरूर शेयर करें -


insurance kya hota hai hindi mai
बीमा क्या होता हैं (Insurance Kya Hota Hai? )


बीमा क्या होता हैं (Insurance Kya Hota Hai? ) 

Insurance का मतलब हीं बीमा होता हैं।  बिमा एक ऐसी सुविधा हैं  जिसकी मदद से बीमा करवाने वाली कंपनी या व्यक्ति को किसी भी तरह के नुक्सान, बिमारी या दुर्घटना के बाद होने वाले नुकसान की भरपाई करता हैं। 

जैसे की अगर आपने अपने दूकान का बिमा करवाया हैं और कभी दुर्घटनावश आपको कोई नुकसान होता हैं तो नुक्सान हुए वस्तुओं की कीमत को बीमा देने वाली कंपनी भरपाई करेगी। 

इसी तरह अगर बीमा कंपनी ने किसी कार, घर या स्मार्टफोन का बीमा किया है तो उस चीज के टूटने, फूटने, खोने या क्षतिग्रस्त होने की स्थिति में बीमा कंपनी उसके मालिक को पहले से तय शर्त के हिसाब से मुआवजा देती है. बीमा वास्तव में बीमा कंपनी और बीमित व्यक्ति के बीच एक अनुबंध है. इस कॉन्ट्रेक्ट के तहत बीमा कंपनी बीमित व्यक्ति से एक निश्चित धनराशि (प्रीमियम) लेती है और बीमित व्यक्ति या कंपनी को पॉलिसी की शर्त के हिसाब से किसी नुकसान की स्थिति में हर्जाना देती है.



Insurance का महत्व क्या है ?


  • हर परिवार की ख़ुशी उसके मुखिया के वित्तीय सपोर्ट की बदौलत चलती है, इसीलिए जैसे ही कोई इंसान अपना परिवार शुरू करता है तो इन्सुरेंस खासकर उस वक़्त से बहुत ही महत्चपूर्ण बन जाता है. इसका मतलब एक तरह से ये है की जो भी परिवार का मुख्य इंसान है उसकी जिंदगी सुरक्षित हो ताकि किसी भी तरह की फाइनेंसियल परेशानी ना आये और अगर उस मुखिया के साथ कुछ बुरा होता है तो फिर बीमा एक तरह का बहुत बड़ा सहारा बन जाता है और उस मुखिया की जगह सपोर्ट करता है.


  • क्या आप जानते हैं कल क्या होगा ? जी नहीं आप क्या कोई नहीं जान जनता की आगे क्या होने वाला है. क्या पता कल आप को कुछ हो और आपके पीछे पूरा परिवार रोता बिलखता छूट जाए और देखने वाला कोई न हो. इस तरह का टेंशन कभी कबार लोगों के मन में तो आ ही जाता है लेकिन क्या आप चाहते हैं की इस तरह का टेंशन न रहे ज़िन्दगी में तो इसके लिए इन्सुरेंस से अच्छा कोई चीज़ नहीं. ये आपकी ज़िन्दगी के साथ भी चलेगा और आपको फायदा देगा और आपकी ज़िन्दगी के बाद भी आपके काम को आपकी परिवार के लिए पूरा करेगा. इस तरह ये आपको टेंशन और दबाव से मुक्त करेगा.


  • अभी भले आपकी फाइनेंसियल कंडीशन अच्छी नहीं है लेकिन अगर आपने बीमा कर रखा है तो भविष्य में एक वक़्त ऐसा आएगा जब आपको बीमा की रकम मिलेगी और उस वक़्त आपके पास अच्छे पैसे होंगे जो आपकी जिंदगी में ख़ुशी के पल लेकर आएगा.

  • ये तो सभी जानते हैं की पैसा ही सबकुछ नहीं होता, पैसों से खुशियां नहीं खरीदी जा सकती है. पैसे का महत्व सेहत और जीवन के आगे कुछ भी नहीं है. लेकिन इन्सुरेंस करने के बाद आपको एक मानसिक शान्ति मिलती है जो आपको ख़ुशी वाली ज़िन्दगी देती है.
  • अगर आपकी मृत्यु हो जाती है जो की एक सच्चाई है और इससे कोई नहीं बच सकता और अभी बेटी की शादी बाकि रह गयी थी या फिर बच्चों की पढाई पूरी नहीं हुई थी. लेकिन अगर आपने बीमा करा रखा है तो भी आपके जाने के बाद बेटी की शादी भी हो जाएगी और बच्चो की पढाई भी अच्छे से निपट जाएगी.



Insurance के प्रकार ! 


आम तौर पर बीमा दो तरह का होता है: जीवन बीमा (Life Insurance) और साधारण बीमा (General Insurance)


जीवन बीमा (Life Insurance ) क्या हैं ?

जीवन बीमा ( Life Insurance) का मतलब यह है कि बीमा पॉलिसी खरीदने वाले व्यक्ति की मृत्यु होने पर उसके आश्रित को बीमा कंपनी की तरफ से मुआवजा मिलता है. अगर परिवार के मुखिया की असमय मृत्यु हो जाती है तो घर का खर्च चलाना मुश्किल हो जाता है. परिवार के मुख्य व्यक्ति की पत्नी/बच्चे/माता-पिता आदि को आर्थिक संकट से बचाने के लिए जीवन बीमा पॉलिसी लेना जरूरी है. वित्तीय योजना में सबसे पहले किसी व्यक्ति को जीवन बीमा ( Life Insurance)पॉलिसी खरीदने का सुझाव दिया जाता है.



साधारण बीमा (General Insurance)

अगर आप अपने घर का बीमा किसी साधारण बीमा कंपनी से कराते हैं तो इसमें आपके घर की सुरक्षा होती है. बीमा पॉलिसी खरीदने के बाद अगर आपके मकान को किसी भी तरह का नुकसान होता है तो उसका हर्जाना बीमा कंपनी देती है. आपके घर को किसी भी तरह के नुकसान से कवरेज इस बीमा पॉलिसी में शामिल है. घर को प्राकृतिक आपदा से हुए नुकसान में आग, भूकंप, आकाशीय बिजली, बाढ़ आदि की वजह से होने वाला नुकसान शामिल है. कृत्रिम आपदा में घर में चोरी होना, आग, लड़ाई-दंगे आदि की वजह से घर को हुआ नुकसान शामिल है. साधारण बीमा में वाहन, घर, पशु, फसल, स्वास्थ्य बीमा आदि सभी शामिल हैं.


  • घर का बीमा ( Home Insurance): अगर आप अपने घर का बीमा किसी साधारण बीमा कंपनी से कराते हैं तो इसमें आपके घर की सुरक्षा होती है. बीमा पॉलिसी खरीदने के बाद अगर आपके मकान को किसी भी तरह का नुकसान होता है तो उसका हर्जाना बीमा कंपनी देती है.

  • वाहन बीमा ( Motor Insurance): भारत में सड़क पर चलने वाले किसी वाहन का बीमा कराना कानून के हिसाब से बहुत जरूरी है. अगर आप अपने वाहन का बीमा कराये बिना उसे रोड पर चलाते हैं तो आपको ट्रैफिक पुलिस जुर्माना कर सकती है. मोटर या वाहन बीमा पॉलिसी के हिसाब से वाहन को हुए किसी भी नुकसान के लिए बीमा कंपनी मुआवजा देती है. अगर आपका वाहन चोरी हो गया या उससे कोई दुर्घटना हो गयी है तो वाहन बीमा पॉलिसी आपकी काफी मदद कर सकती है.

  • स्वास्थ्य बीमा ( Health Insurance): आजकल इलाज का खर्च बहुत तेजी से बढ़ रहा है. स्वास्थ्य बीमा लेने पर बीमारी होने पर बीमा कंपनी इलाज का खर्च कवर करती है. स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी के तहत इंश्योरेंस कंपनी किसी भी तरह की बीमारी होने पर इलाज पर खर्च होने वाली रकम देती है. किसी बीमारी पर होने वाले खर्च की सीमा आपकी स्वास्थ्य बीमा पॉलिसी पर निर्भर करती है.


  • यात्रा बीमा ( Travel Insurance): यात्रा बीमा किसी यात्रा के दौरान होने वाले नुकसान से बचाती है. अगर कोई व्यक्ति किसी काम से या घूमने के लिए विदेश जाता हैं और उसे चोट लग जाती है या सामान गुम हो जाता है तो बीमा कंपनी उसे मुआवजा देती है. यात्रा बीमा पॉलिसी आपकी यात्रा शुरू होने से लेकर यात्रा खत्म होने तक ही वैध होता है. यात्रा बीमा पॉलिसी के लिए अलग-अलग बीमा कंपनियों की शर्त अलग-अलग हो सकती है.


  • फसल बीमा ( Crop Insurance): मौजूदा नियमों के हिसाब से कृषि लोन लेने वाले हर किसान को फसल बीमा खरीदना जरूरी है. फसल बीमा पॉलिसी के तहत फसल को किसी भी तरह का नुकसान होने पर बीमा कंपनी किसान को उसका मुआवजा देती है. फसल बीमा पॉलिसी के तहत आग लगने, बाढ़ की वजह से या किसी बीमारी की वजह से फसल खराब होने पर बीमा कंपनी की तरफ से मुआवजा दिया जाता है. फसल बीमा पॉलिसी की शर्त बहुत कड़ी होने और लागत के हिसाब से मुआवजा नहीं मिलने की वजह से अभी किसानों में फसल बीमा के प्रति बहुत उत्साह नहीं है. वास्तव में फसल खराब होने पर मुआवजा देने के लिए बीमा कंपनियां उस खेत के आसपास मौजूद सभी खेत का सर्वे करती हैं और मुआवजा तभी दिया जाता है जब अधिकतर किसानों की फसल को नुकसान पहुंचा हो.



  • कारोबार उत्तरदायित्व बीमा (Business Liability Insurance): Liability Insurance वास्तव में किसी कंपनी के काम-काज या किसी उत्पाद से ग्राहक को होने वाले नुकसान की भरपाई के लिए होता है. इस तरह की किसी स्थिति में कंपनी पर लगने वाला जुर्माना और कानूनी कार्यवाही का पूरा खर्च Liability Insurance करने वाली बीमा कंपनी को उठाना पड़ता हैं 

At Last:
दोस्तों बिमा करवाना जरुरी होता हैं ताकि समय रहते हम भविष्य में होने वाले नुकसान से बच सके या उसकी भरपाइ कर सके। 

इस पोस्ट में मैंने लगभग सारी चीजें बताने की कोशिश की हैं जैसे की "insurance kya hota hai hindi mai" "insurance in hindi notes" "principle of insurance in hindi" "insurance kitne prakar ke hote hai" "insurance in hindi wikipedia" "whole life insurance in hindi" "what is life insurance in hindi wikipedia" "insurance ki jankari"। अगर आप इसके बारे में और भी कुछ जानना चाहते हैं तो आप Wikipedia पर क्लिक करके पढ़ सकते हैं।